हिंदु युवा वाहिनी का संविधान

हिन्दु युवा वाहिनी अपने नाम के अनुरूप प्रखर हिन्दु राष्ट्रवाद के प्रति समर्पित भाव से कार्य करते हुए सम्पूर्ण भारत में हिन्दुत्व के मतावलम्बियों वैदिक, बौद्ध, जैन, सिख तथा अन्य हिन्दू धर्म-संस्कृति एवं परम्परा जो निम्नांकित आचरण संहिता में विश्वास रखते हैं, को वृहद हिन्दू परिवार में समाहित करने के लिए कार्य करेगी।

१. नाम: संस्था का नाम ''हिन्दु युवा वाहिनी'' होगा।
२. केन्द्रीय कार्यालय: संस्था का मुखयालय हिन्दू भवन, रेलवे स्टेशन रोड गोरखपुर (उ०प्र०) होगा।
३. कार्य क्षेत्र: संस्था का कार्यक्षेत्र सम्पूर्ण हिन्दुस्तान होगा।
४. परिभाषा: इस संविधान में जब तक आवश्यक न हो निम्नलिखित विषय का अर्थ होगा।

(अ)   संविधान का अर्थ होगा ''हिन्दु युवा वाहिनी'' का संविधान।

(ब)   ''वाहिनी'' का अर्थ होगा ''हिन्दु युवा वाहिनी''।

(स)   हिन्दू का अर्थ है वैदिक, बौद्ध, सिख, जैन, नागा, तथा अन्य हिन्दू संस्कृति मतावलम्बी तथा जो भी व्यक्ति या समुदाय निम्नलिखित आचरण संहिता को अंगीकार करता है :-

(i)  ओंकार मे विश्वास एवं श्रद्धा।

(ii)   गो एवं गो-वंश की हत्या का विरोध।

(iii)   पुनर्जन्म में विश्वास।

(iv)   हिन्दुस्तान को अपनी मातृभूमि, पितृभूमि अथवा पुण्यभूमि के रूप में मानता हो।

(v)   हिन्दू धर्म-ग्रन्थों मे पूर्ण आस्था हो।